हिंदी जगत

शिलांग में हुआ राष्ट्रीय हिंदी विकास सम्मेलन

"भारतीय सांस्कृतिक परिषद् और पूर्वोत्तर हिंदी अकादमी ने शिलांग में तीन दिवसीय हिन्दी विकास सम्मलेन का आयोजन किया. २५ से २७ मई तक चले इस सम्मलेन में भारत सैकड़ों हिन्दी प्रेमियों के साथ-साथ बेलारूस की हिन्दी विदुषी सुश्री एलिसिया ने भी भाग लिया. "

purvottar hindi akadmi shilong rashtriy hindi vikas sammelan atul kumar mathur ips lingdoh mla

मेघालय की राजधानी में हुए इस सम्मलेन का शुभारंभ विधायक श्रा पॉल लिंगदोह ने किया. उदघाटन सत्र में उत्तर पूर्वी पुलिस अकादमी के निदेशक श्री अतुल कुमार माथुर, सरस्वती सुमन के प्रधान संपादक एवं वैदिक क्रांति परिषद् देहरादून के अध्यक्ष डॉ आनन्दसुमन सिंह, भारतीय सांस्कृतिक संबंध परिषद्, क्षेत्रीय केन्द्र शिलांग के क्षेत्रीय अधिकारी श्री एन. मुनिश सिंह, सहित कई हिन्दी सेवी उपस्थित थे.
सम्मलेन के दूसरे दिन पूर्वोत्तर भारत में हिंदी-दशा और दिशा विषय पर संगोष्ठी का आयोजन किया गया. इसमें देश के विभिन्न राज्यों से आये 24 प्रतिभागियों ने अपने आलेख पढ़े. इस सत्र का संचान श्री रणजीत कुमार

सिन्हा ने किया. मुख्य अतिथि के रूप में नगर राजभाषा कार्यान्वयन समिति के सचिव एवं असम राइफल्स महानिदेशालय के शिक्षा अधिकारी श्री निलेश इंगले, अति विशिष्ट अतिथि के रूप में बेलारुस की हिंदी प्रेमी सुश्री अलेस्या माकोस्व्काया, विशिष्ट अतिथि के रूप में डॉ. राजेन्द्र मानव, डॉ. सुशील गुरु, चिंङाबम निशान निंतम्बा, डॉ. बीना बुदकी, डॉ. ओमप्रकाश ह्यारण दर्द मंच पर उपस्थित थे. इस अवसर पर हिन्दी के कई लेखकों का सम्मान किया गया.
दोनों  दिन सांस्कृतिक संध्या और काव्य गोष्ठी का आयोजन भी हुआ. सम्मलेन में भाग लेने वाले सभी प्रतिभागियों ने इस आयोजन के लिए अकादमी के अध्यक्ष श्री विमल बजाज और सचिव डा. अकेला भाई की भरपूर सराहना की.


प्रकाशन दिनांक :
print

नवीनतम लेख

a summer camp was organised for teaching hindi in minsk city of belarus by alesia.
BOOK WRITER, POEM, POET, SUBODH