हिंदी जगत

कार्टून चैनल्स के प्रभाव से पाकिस्तान में बढ़ रही है हिन्दी

"पाकिस्तान में कार्टून चैनल्स के प्रभाव से बच्चों में हिन्दी का प्रयोग बढ़ रहा है.यहाँ के बच्चों को इंग्लिश की जगह हिन्दी के कार्टून चैनल्स ज़्यादा पसंद आते है और इनके चलते विशाल शान्ति, शक्ति, अधिकार और मुक्ति और ऐसे कई हिन्दी शब्द यहाँ के बच्चों की बोलचाल की भाषा का एक अंग बन गए है. "

pakistan, hindi chainals in pakistan,

कार्टून नेटवर्क, बेबी टीवी, पोगो, निकोल्दीयन  और डिज्नीवर्ल्ड ये कार्टून चैनल्स दुनिया भर के बच्चों की पहली पसंद बन गए है.पाकिस्तान में भी ये सभी चैनल्स काफी लोकप्रिय है और खास बात ये है कि यहाँ के के बच्चे ये चैनल्स अंग्रेजी में नहीं बल्कि हिन्दी में देखना पसंद करते है. इसका कारण उनके मन में हिन्दी के प्रति प्रेम नहीं है बल्कि इसका कारण ये है कि वे अंग्रेजी की तुलना में हिन्दी आसानी से समझ सकते है. यही कारण है कि लोगों की मांग के आधार पर पाकिस्तान के केबल आपरेटर्स ये चैनल हिन्दी में दिखाते है या हिन्दी में डब  किए हुए कार्टून प्रोग्राम दिखाते है.

पाकिस्तान के एक केबल आपरेटर बताते है कि पहले सभी आपरेटर्स इंग्लिश में कार्टून चैनल्स दिखाते थे लेकिन लोगो की मांग के कारण वे हिन्दी कार्टून चैनल्स दिखाने लगे है.इन कार्टून चैनल्स के प्रभाव से पाकिस्तान के बच्चे रोजमर्रा की बातचीत में कई हिन्दी शब्दों का प्रयोग करने लगे है.

उल्लेखनीय है कि पाकिस्तान में न सिर्फ कार्टून बल्कि मनोरंजन और सूचना के क्षेत्र में भी हिन्दी के कई चैनल्स काफी लोकप्रिय है यही कारण है कि सरकारी प्रतिबन्ध के बावजूद लोगों की मांग पर अक्सर केबल पर हिन्दी चैनल्स के कुछ खास कार्यक्रम प्रसारित किए जाते है.एक अनुमान के मुताबिक़ यहाँ प्रसारित कार्यक्रमों में से सत्तर प्रतिशत कार्यक्रम हिन्दी भाषा में होते है या हिन्दी में डब करके प्रसारित किए जाते है.

समाचार स्रोत - पाकिस्तान टूडे

 

 


प्रकाशन दिनांक : 30-01-2012
print

नवीनतम लेख

a summer camp was organised for teaching hindi in minsk city of belarus by alesia.
BOOK WRITER, POEM, POET, SUBODH