संसाधन हिंदी शिक्षक

जिन खोजा तिन पाइयां

"गुजरात विश्वविद्यालय के हिन्दी विभाग ने अपने विद्यार्थियों के लिए एक नई पहल की है. हिन्दी विभाग ने अपना पाठ्यक्रम इस चिट्ठे पर प्रस्तुत कर दिया है. उनका ये चिट्ठा सिर्फ उनके विभाग ही नहीं बल्कि पूरे देश के हिन्दी विद्यार्थियों के लिए उपयोगी है. ।"

hindi department, gujarat university, dr. ranjana argare, hindi teaching, hindi course

जिन खोजा तिन पाइयां नामक ये चिट्ठा डॉ. रंजना अरगडे की रचनात्मकता की देन है. इसके माध्यम से से हिन्दी अध्यापन तो होता ही है ये विद्यार्थियों की जिज्ञासाओं के समाधान का मंच भी है.

इस चिट्ठे को यहाँ देखा जा सकता है.

योगदान : Niteen Gorakhrao Mandlik
प्रकाशन दिनांक : 13-08-2014
print

नवीनतम लेख

a summer camp was organised for teaching hindi in minsk city of belarus by alesia.
BOOK WRITER, POEM, POET, SUBODH