संसाधन संसद और संसदीय संस्थाएं

आजादी

" किसी भी देश में लोकतंत्र की सफलता उसके नागरिकों की वैचारिक क्षमता पर निर्भर करती है, यदि हमारे यहाँ लोकतंत्र सही मायने में सफल नहीं हो पाया है तो उसका एक बड़ा कारण हमारी वैचारिक अक्षमता भी है.हिन्दी की ये वेबसाईट भारत के हिन्दीभाषी समाज में शिक्षा,स्वास्थ्य,शासन-प्रशासन, प्रकृति,पर्यावरण, विधि और अन्य क्षेत्रों में उदारवादी और व्यावहारिक विचारों के प्रसार के लिए बनाई गई है. "

azadi centre for civil society

आज़ादी नामक ये वेबसाईट हिन्दी भाषी समाज को वैचारिक खुराक देने के उद्देश्य से बनाई गई है. सेंटर फॉर सिविल सोसाइटी (ये सिविल सोसायटी श्री अरविन्द केजरीवाल वाली नहीं है),एटलस वैश्विक पहल और केटो इंस्टीट्यूट नामक संस्थाओं ने हिन्दी की ये साईट विभिन्न विषयों पर पूर्वाग्रह से मुक्त विचारों के प्रसार के लिए इस साईट की शुरुआत की है. इसका उद्देश्य कानून बनाने वालों और हिंदीभाषी समुदाय के बेच संपर्क सेतु बनाकर उभरने का है.

योगदान : Niteen Gorakhrao Mandlik
प्रकाशन दिनांक : 05-04-2013
print

नवीनतम लेख

a summer camp was organised for teaching hindi in minsk city of belarus by alesia.
this is a poem written by rajendra sinh fariyadi on water
higher education in hindi, atal bihari vajpeyi, hindi university, hindi teaching, bhopal, mohan lal chipa